Home > साथी की ख़ूबी > ज्ञान और सौम्यता का मिश्रण हैं कल्पेश याग्निक: आनंद कुमार, सुपर-30

ज्ञान और सौम्यता का मिश्रण हैं कल्पेश याग्निक: आनंद कुमार, सुपर-30

दैनिक भास्कर इंदौर कार्यालय में कल्पेश याग्निक से चर्चा करते आनंद कुमार
दैनिक भास्कर इंदौर कार्यालय में कल्पेश याग्निक से चर्चा करते आनंद कुमार

पटना निवासी सुपर-30 के संचालक आनंद कुमार को कौन नहीं जानता। आनंद की हाल ही में दैनिक भास्कर समूह के सम्पादक कल्पेश याग्निक से इंदौर में मुलाकात हुई। कल्पेश जी के व्यक्तित्व से प्रभावित होकर आनंद जी ने कुछ लिखा है।
उन्ही के शब्दों में:-

पिछले दिनों जब मैं इंदौर गया हुआ था तब उनके आमंत्रण पर उनसे मिलने का मौका मिला तो उनकी सादगी ने चौकने पर मजबूर कर दिया | भास्कर जैसे बड़े अख़बार के ग्रुप एडिटर को एक मामूली टेबल-कुर्सी पर बिना किसी केबिन के कुछ सहर्मियों के साथ बैठा देख सुखद आश्चर्य हुआ |

ज्ञान और सौम्यता जब एक ही सांचे में ढल जाये और फिर जो चेहरा उभरता है उसका ही नाम है कल्पेश याग्निक | विचारधारा से पहले एक अच्छा इंसान समाज को ज्यादा कुछ दे सकता है ऐसे ही शख्शियत के मालिक हैं कल्पेश याग्निक | पिछले दिनों जब मैं इंदौर गया हुआ था तब उनके आमंत्रण पर उनसे मिलने का मौका मिला तो उनकी सादगी ने चौकने पर मजबूर कर दिया | भास्कर जैसे बड़े अख़बार के ग्रुप एडिटर को एक मामूली टेबल-कुर्सी पर बिना किसी केबिन के कुछ सहर्मियों के साथ बैठा देख सुखद आश्चर्य हुआ |
अक्सर अख़बारों से रेगुलर कॉलम लिखने के लिए ऑफर आते रहते हैं | और मेरे लिए यह तय करना मुश्किल हो जाता है कि आखिर लगातार लिखा क्या जाये | लेकिन जब यह बात मेरे और कल्पेश जी के बीच आयी थी तब उन्होंने एक नया आईडिया देते हुए कहा था कि आप अपने सुपर 30 के स्टूडेंट्स के संघर्ष और उसके बाद मिली सफलता की कहानी लिखें | लगभग मैंने तीन साल भास्कर के लिए लिखा भी और बहुत ही शानदार रेस्पोंस मिला था मुझे | तो उनके पास जो एकदम नई सोच है उसका तो मैं कायल हूँ ही | कल्पेश याग्निक जी जैसे लोगों से मुझे सिखाने का मौका मिलते रहता है | तहे-दिल से शुक्रिया आपका आदित्य जी, जो आपने इस यादगार मीटिंग को अंजाम दिया |

Share this: