Home > सर्वश्रेष्ठ फ़ोटो/कार्टून > 1826 में जोसेफ नाईस ने ली थी विश्व की पहली फोटो, 8 घंटे लगा था समय

1826 में जोसेफ नाईस ने ली थी विश्व की पहली फोटो, 8 घंटे लगा था समय

कैमरा से ली गई विश्व की पहली फोटो
कैमरा से ली गई विश्व की पहली फोटो

कैमरा से ली गई विश्व की पहली फोटो फ्रेंच वैज्ञानिक जोसेफ नाईसोफर नाईस ने 1820 के दशक में खींची थी। इस शॉर्ट में ऊपर दिख रही फोटो फ्रांस के नाईस एस्टेट की खिड़की से हीलियोग्राफी नामक प्रक्रिया के ज़रिए ली गई थी। गौरतलब है कि आज का दिन 19 अगस्त विश्व फोटोग्राफी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

ये दुनिया का पहली फोटो है। आप सामान्यतौर पर नहीं समझ पाएंगे कि तस्वीर में क्या है। हालांकि फोटोग्राफर का दिया गया टाइटिल सबकुछ कह देता है। फ्रेंच आविष्कारक जोसफ नाइसोफर नीप्चे ने इस फोटोग्राफ को शीर्षक दिया- ‘व्यू फ्रॉम द विंडो एट ले ग्रास’। यह फोटोग्राफ लगभग 1826 में खींचा गया था।

इस चित्र में खिड़की से नजर आने वाला व्यू है। इसमें एक बिल्डिंग की छत और कुछ पेड़ दिख रहे हैं। जोसफ को इस चित्र को खींचने में 8 घंटे लगे थे। उसने जस्ते की प्लेट पर बिटुमन आफ ज्यूडिया और एक तरह के डामर का मिश्रण पोता था। यह एक लाइट सेंसेटिव मिश्रण था। फिर उसने इस प्लेट पर रोशनी को फोकस किया और कैमरे को बिना हिलाए-डुलाए ऐसे ही रहने दिया। धीरे-धीरे 8 घंटे में जहां रोशनी पड़ी, बिटुमन का वह हिस्सा कड़ा हो गया।

इसके बाद जोसफ ने बिटुमन के नरम हिस्से को धोकर अलग कर दिया और उसे दुनिया की पहली तस्वीर प्राप्त हुई। उस समय तक फोटोग्राफी शब्द नहीं बना था। जोसफ ने इसे हेलियोग्राफी नाम दिया, जिसका मतलब होता है- रोशनी की लिखावट। बाद में यह प्लेट गुम हो गई थी और फिर 1952 में अचानक एक क्रैट में मिली।

Share this: