Home > सर्वश्रेष्ठ फ़ोटो/कार्टून > आग में जलते हाथी की तस्वीर ने जीता अवॉर्ड

आग में जलते हाथी की तस्वीर ने जीता अवॉर्ड

विप्लव हजारा
विप्लव हजारा की मार्मिक तस्वीर। जिसमें आगे से जला हाथी का बच्चा जान बचाकर भागता हुआ।

हमलावर भीड़ से बचकर भाग रहे आग में झुलसे दो हाथियों की एक तस्वीर ने वाइल्ड लाइफ़ फ़ोटोग्राफ़ी अवॉर्ड जीता है.

  • भारत के पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा में ली गई इस तस्वीर में एक हाथी का बच्चा आग की लपटों में घिरा है और वो एक अन्य हाथी के साथ अपनी जान बचाकर भाग रहा है. बिपलब हाजरा की इस तस्वीर को शीर्ष अवॉर्ड देते हुए सैंक्चुरी मैगज़ीन ने कहा, “इस तरह का अपमान… आम बात सी है.”
ग्राउंड रिपोर्ट: पूर्वी भारत के कई इलाकों में चल रही है इंसानों और हाथियों के बीच जंग

बांकुड़ा ज़िले के जिस इलाक़े में ये तस्वीर ली गई है वहां हाथियों और लोगों के बीच संघर्ष आम बात है.ये पता नहीं चल सका कि इन हाथियों का बाद में क्या हुआ. बांकुड़ा से हाथियों के हमलों में लोगों के मारे जाने की ख़बरें भी आती रहती हैं. Image captionसैंक्चुरी वाइल्डलाइफ़ अवॉर्ड्स में कुल 27 तस्वीरों को पुरस्कृत किया गया है

तस्वीर के साथ दी गई जानकारी में मैगज़ीन ने कहा है कि ये भी हाथियों और लोगों के बीच संघर्ष का ही एक मामला था.

तस्वीर के साथ जारी नोट में बताया गया, बिपलब हाजरा ने जब ये तस्वीर खींची तब “चिल्लाते हुए लोगों का समूह हाथियों पर आग के गोले और पटाखे बरसा रहा था.” बिपलब हाजरा बताते हैं कि हाथी का बच्चा बदहवास दौड़ रहा था.

“ये समझदार, शांत और सामाजिक जानवर सदियों से इस उपमहाद्वीप में रहते रहे हैं लेकिन अब उनके लिए यहां नर्क जैसा माहौल है.”

इस तस्वीर पर सोशल मीडिया पर भी ख़ूब चर्चा हुई है.

 बांकुड़ा के ही रहने वाले मैनक मज़ूमदार ने टिप्पणी की, हाथियों के क्षेत्र को हुए नुकसान के लिए गांव वाले ज़िम्मेदार हैं, यहां हाथियों पर हमले हो रहे हैं और उनका शोषण किया जा रहा है. अपनी टिप्पणी में मज़ूमदार ने ये भी कहा है कि हाथियों ने भी बहुत बर्बादी की है. फ़सलें बर्बाद की हैं, घरों को तोड़ा है और मासूम लोगों को मारा है.
साभारः बीबीसी
Share this: