Home > खबरें > मुस्लिम पत्रकार को हटाने को लेकर नवभारत दफ्तर पर हमला

मुस्लिम पत्रकार को हटाने को लेकर नवभारत दफ्तर पर हमला

रायपुर प्रेस क्लब का निंदा पत्र
रायपुर प्रेस क्लब ने घटना की निंदा की

रायपुरः

कल रात कुछ लोग नवभारत रायपुर के दफ्तर में घुस गये ओर जय श्री राम ,वन्देमातम,भारत.माता की जय ,जो हिन्दू हित की बात करेगा वही अखबार में राज करेगा जैसे नारे लगा रहे थे .

वे सरायपाली के के किसी मुस्लिम संवाददाता को हटाये जाने की मांग कर रहे थे ,उनका कहना था कि उसने किसी हिन्दू को बुरा भला कहा. थोड़ी हुज्जत के बाद वे ऑफिस से बाहर गये.और बडी संख्या मे लोगों को लेकर गेट पर पहुच गये ,तब तक गेट बंद कर दिया था । एक महिला के उकसाने पर यह भीड़ नारे लगा रहे थे ,वे आग लगाने के नारे भी लगा रहे थे .

हिंदू स्वाभिमान संगठन की प्रदेश अध्यक्ष विश्वदिनी पांडेय ने इस हमले का नेतृत्व किया ,पिछली साल यही महिला का बयान था की बस्तर के आदिवासी अपनी बेटियों से वेश्यावृत्ती करवाते हैं क्योकि की यह उनकी संस्कृति है।

 

पूरा प्रेस इकट्ठा हो गया , कुछ पत्रकारों के साथ बदतमीजी भी की गई , जिस मुस्लिम पत्रकार को हटाने को लेकर यह हमला किया गया उसके बारे मे भी उसके मुस्लिम होने के अलावा कोई आरोप नही लगाये गये ,बस मुस्लिम विरोधी और हिन्दू हिन्दू के नारे लग रहे थे ।

नवभारत ने अंत मे पुलिस को बुलाया , जब पुलिस पहुची तो भीड़ के लोग तो भाग गये लेकिन जो महिला लीड कर रही थी वह गेट के सामने ही धरने पर बैठ गई .
काफी हल्ला के बाद पुलिस उस महिला को थाने ले गई ,नवभारत ने उन्मादियों के खिलाफ रिपोर्ट लिखवाई ,वही उस महिला ने भी अपने साथ मारपीट की रिपोर्ट लिखवा दी .

दूसरे दिन प्रेस क्लब रायपुर ने इस हमले की निंदा की और पूरे छतीसगढ मे पत्रकारों पर बढ़ हमलो पर चिंता व्यक्त की और सुरक्षा की मांग की .

खबरः सीजी बास्केट 

Share this: