Home > खबरें > हिंद किसान मीडिया समूह में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने लगाया पैसा!

हिंद किसान मीडिया समूह में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने लगाया पैसा!

दिग्विजय सिंह।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह। फाइल फोटो
  • हिंद किसान मीडिया समूह की प्रबंध सम्पादक हैं दिग्विजय सिंह की पत्नी अमृता रॉय 

 

मीडिया मिरर न्यूज, दिल्लीः

हिंद किसान वेबसाईट तकरीबन 3 या 4 महीने से चल रही है। इसे अपेक्षा से अधिक लोकप्रियता मिली। चूंकि किसान औऱ कृषि से जुड़ी खबरें प्रमुखता से इस वेबसाईट में होती हैं इसलिए ग्रामीण स्तर पर ज्यादा पसंद किया जा रहा है। हाल ही में इसने हैशटैग न्यूज बेव चैनल भी लांच किया।

मुद्दे पर आते हैं। इस बेवसाईट को शुरू किया था राज्यसभा टीवी के पूर्व प्रधान सम्पादक गुरदीप सिंह सप्पल ने। गुरदीप जी ने जैसे ही राज्यसभा टीवी को अलविदा बोला वो इस साइट को लोगों के लिए लाए। गुरदीप के बाद इसमें राज्यसभा टीवी की पत्रकार अरफा खानम, दिलीप खान और कई नाम जुड़े। श्री सप्पल इस समूह के प्रधान सम्पादक हैं।

सब कुछ सामान्य चल रहा था कि अचानक राज्यसभा टीवी की एंकर रहीं म.प्र. के पूर्व मुख्यमंत्री वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह की पत्नी हिंद किसान समूह से प्रबंध सम्पादक के रूप में जुड़ीं।

अमृता राय की प्रबंध सम्पादक की भूमिका से कई सवाल मीडिया गलियारे में दौड़ने लगे हैं। लोगों के बीच चर्चा है कि हिंद किसान मीडिया समूह में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का पैसा लगा है। और कहने वाले ये भी कह रहे हैं कि इसे बीजेपी के खिलाफ हथियार के रूप में दिग्विजय सिंह प्रयोग करेंगे।

इन तमाम अटकलों और अफवाहों के बीच मीडिया मिरर ने हिंद किसान समूह के प्रधान सम्पादक गुरदीप सिंह सप्पल से बातचीत की। सप्पल क्या बोले आप पढ़ लीजिए। गुरदीप कुछ भी बोलें पर विश्वस्त सूत्र बता रहे हैं कि गुरदीप सिंह सप्पल औऱ अमृता राय ने संयुक्त रूप से इस समूह में पैसा लगाया है। हालांकि मिरर का यहां पर नजरिया यही है कि धन किसी का भी लगा हो समूह के प्रयास सार्थक और पारदर्शी, जन हितैषी होने चाहिए।

देश में किसान और कृषि से जुड़े एक मीडिया समूह की आवश्यक्ता थी, चूंकि गुरदीप सिंह सप्पल के पास अच्छी टीम है। राज्यसभा टीवी को नई ऊंचाईयां देने में गुरदीप सप्पल और उनकी टीम का काम प्रशंसनीय रहा है, ऐसे में ये उम्मीद जरूर बांधी जा सकती है कि हिंद किसान के रूप में देश को एक बेहतर मीडिया समूह मिल सकता है।

 

सवाल- जवाब

मिररः अमृता रॉय आपके मीडिया समूह से प्रबंध सम्पादक के रूप में जुड़ी हैं। उनकी इस भूमिका के बाद चर्चा है कि आपके समूह में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का पैसा लगा है। क्या ये दिग्विजय सिंह का मीडिया समूह है।

गुरदीप सिंह सप्पलः  प्रशांत जी, ये तो हमें भी आभास था कि लोग ऐसा कहेंगे। पर आप मुझे जानते हैं। मेरा सिद्धांत है कि कभी किसी भी राजनीतिक पार्टी या व्यक्ति से पैसा ले कर मीडिया में काम नहीं करना चाहिए। इससे मीडिया की ताक़त और उद्देश्य दोनों कमज़ोर होते हैं।
अमृता दो दशकों से ज़्यादा वक़्त से पत्रकारिता में हैं। मेरे साथ राज्यसभा टीवी की कोर टीम में थी। उन्हें उनके पत्रकारिता के अनुभव के चलते ही साथ लिया है। बाक़ी आगे तो हमारा काम बोलेगा

Share this: