Home > खबरें > UGC ने IIMC को विश्वविद्यालय का दर्जा देने की सिफारिश की

UGC ने IIMC को विश्वविद्यालय का दर्जा देने की सिफारिश की

आईआईएमसी
आईआईएमसी

मीडिया मिरर न्यूज, दिल्लीः

भारतीय जन संचार संस्थान दिल्ली को डीम्ड विवि का दर्जा देने की सिफारिश यूजीसी ने की है। संस्थान के प्रमुख केजी सुरेश लगातार तमाम विवादों में घिरे रहे बावजूद अगर आईआईएमसी ये उपलब्धि पाता है तो इसका श्रेय केजी सुरेश के ही खाते में जाएगा।

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय से भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) को डीम्ड विश्वविद्यालय का दर्जा दिए जाने की सिफारिश की है. सूचना और प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले, देश में पत्रकारिता के अग्रणी संस्थानों में से एक आईआईएमसी में पत्रकारिता, विज्ञापन और जनसंपर्क में डिप्लोमा पाठ्यक्रम की पढाई होती है. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने आईआईएमसी के प्रस्ताव का आकलन करने के लिए पिछले साल माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय के कुलपति बी के कुठियाला के नेतृत्व में चार सदस्यीय कमेटी का गठन किया था.

यूजीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘कमेटी की अनुशंसा और निरीक्षण दल के फीडबैक के आधार पर यूजीसी ने सिफारिश की है कि मंत्रालय को ‘डे नोवो’ श्रेणी के तहत पत्रकारिता संस्थान को आशय पत्र जारी किया जाना चाहिए. इस दर्जे से संस्थान डिप्लोमा की जगह डिग्री प्रदान कर सकेगा.’’

 ‘डे नोवो’ का संदर्भ ऐसे संस्थान के लिए दिया जाता है जहां ज्ञान के उभरते क्षेत्र में अध्यापन और शोध को बढ़ावा दिया जाता है. आईआईएमसी को डीम्ड विश्वविद्यालय का दर्जा दिए जाने का विचार नया नहीं है. सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने 2016 में भी योजना को मंजूरी दी थी. आईआईएमसी का पिछले पांच साल में विस्तार हुआ है. दिल्ली और ढेंकानाल के अलावा जम्मू, अमरावती, कोट्टायम और एजल में नया कैंपस खोला गया है.
संस्थान में गूगल न्यूज लैब
भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) को हाल में घोषित ‘गूगल न्यूज लैब यूनिवसिर्टी नेटवर्क’ में दुनिया भर के 46 संचार संस्थानों के एक समूह में शामिल किया गया है.
आईआईएमसी ने कहा, ‘‘डिजिटल मीडिया के इस दौर में गूगल न्यूज लैब आईआईएमसी के छात्रों को गूगल सर्च, गूगल ट्रेंड्स, गूगल मैप्स और गूगल अर्थ जैसे महत्वपूर्ण ऑनलाइन माध्यमों की जानकारी मुहैया कराएगा.’’ गूगल न्यूज लैब्स के प्रशिक्षण एवं विकास प्रबंधक निकोलस विटेकर ने मीडियम.कॉम पर लिखे एक पोस्ट में इसकी घोषणा करते हुए कहा, ‘‘नेटवर्क प्रोफेसर एवं छात्रों को गूगल के माध्यमों की बुनियादी चीजों, भरोसे, सत्यापन, रोचक किस्सागोई, डेटा जर्नलिज्म, एडवांस्ड सर्च एवं गूगल ट्रेंड्स, डेटा विजुअलाइजेशन, मैपिंग और अन्य जैसे विभिन्न विषयों पर व्यक्तिगत प्रशिक्षण एवं ऑनलाइन सामग्री एवं सहयोग मुहैया कराएगा.’’

आईआईएमसी के महानिदेशक के जी सुरेश ने इस भागीदारी को लेकर कहा, ‘‘डिजिटल माध्यमों की समझ उभरते पत्रकारों के लिए समय की जरूरत है. गूगल न्यूज लैब के साथ हमारे सहयोग से हमारे छात्रों को मीडिया के बदलते परिदृश्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए दक्ष बनाने में मदद मिलेगी. हमें इस उद्यम से जुड़कर गर्व महसूस हो रहा है.’’ नेटवर्क में अमेरिका के 27, यूरोप के 12, हांगकांग के तीन, भारत के तीन और मैक्सिको का एक संस्थान शामिल है.

(इनपुट-भाषा और एनडीटीवी) 

Share this: