Home > खबरें > ह्रितिक रोशन ने लगाई दैनिक भास्कर को फटकार

ह्रितिक रोशन ने लगाई दैनिक भास्कर को फटकार

ह्रितिक रोशन
ह्रितिक रोशन का ट्वीट जिसमें भास्कर को टारगेट किया गया
ह्रितिक रोशन
दैनिक भास्कर की इस खबर पर भड़के ह्रितिक

मीडिया मिरर न्यूज, दिल्ली।

बॉलीवुड के अभिनेता ह्रितिक रोशन ने हाल ही में ट्ववीट कर दैनिक भास्कर को जमकर फटकार लगाई है। इतना ही नहीं उन्होंने भास्कर डॉट कॉम की उस खबर को भी ट्वीट किया जिसमें उनको और अभिनेत्री दिशा पटानी को लेकर मनगढ़ंत खबर बनाई गई थी।

ह्रितिक रोशन ने खबर को साझा करते हुए लिखा कि भास्कर भाईसाहब सब ठीक तो है। दुकान कैसी चल रही है। उन्होंने कहा कि आपकी दुकान चलाने के लिए देखो वो खुद ट्वीट कर रहे हैं।

ह्रितिक के इस स्टैंड के बाद ये तो तय हो गया है कि बॉलीवुड सेलिब्रिटीज को लेकर मीडिया अब कुछ भी छाप दिखा नहीं सकता। संबंधित स्टार सीधे एक्शन लेगा जिससे मीडिया समूह की किरकिरी होगी। ह्रितिक रोशन के भास्कर संबंधी ट्वीट के बाद भास्कर डॉट कॉम की खासी आलोचना हो रही है।

मीडिया मिरर ने भास्कर डॉट कॉम के सम्पादक अनुज खरे को इस मामले से अवगत कराया तो उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

 

क्या कहते हैं मामले को लेकर मीडिया विश्लेषक दीपांकर पटेल 

चटपटी-अफवाह की ख़बर बनाकर बेचने वाले दैनिक भास्कर ने पकड़े जाने पर ख़बर ही डिलीट कर दी.
ऋतिक रोशन ने पहले तो खिचाई करते Dainik Bhaskar की दुकान का हाल चाल पूछा फिर बोला कि भास्कर को दुकान चलाने के लिए अगर हेल्प चाहिए तो वो वो नेक्सट टाइम सीधे बोल दे।
भास्कर कहता है कि ऋतिक ने दिशा पटानी को पटाने की कोशिश की, मैसेज भेजा।
लेकिन कौन सा मैसेज ??
भास्कर वाले तो मोबाइल देखते देखते अब मैसज भी देखने लगे हैं। कहीं दिशा इन्हें स्क्रीन शॉट तो नहीं भेजती?
लेकिन ये मैसेज का स्क्रीन शॉट तो ख़बर के साथ लगाते नहीं।
ऊपर से इनकी ख़बर का स्क्रीन शॉट वायरल हो जाता है।
दिशा पटानी के चक्कर में दैनिक भास्कर दिशाहीन हो चुका है, दिशा पटानी का मोबाइल भास्कर पहले भी देखता रहा है।
एक बार टाइगर श्राफ के साथ चलते हुए दिशा ने मोबाइल क्या देखा भास्कर ने ख़बर बना दी(फोटो-3).
जब ऋतिक ने भास्कर को दुकान बोलकर उसकी खिचाई की तो बाकी ग्राहक भी टूट पड़े, ट्विटर पर भास्कर को भयंकर गालियां पड़ी हैं।
डेस्क पर वीडियो और फोटो देखकर मनगढंत खबर लिखने वालों को ये पता होना चाहिए कि ये बॉलीवुड के सेक्सी किस्से बेचने वाला 80 का दशक नहीं है।
सेक्स अभी भी बिक रहा है लेकिन सिने पत्रिकाओं के सहारे फैलने वाली चटपटी फेक अफवाहें अब पकड़ी जाती हैं। फिर
क्लिक-बेट के धंधे पर सवार पत्रकार का क्लिक-बेट होने लगता है।

Share this: