Home > सर्वश्रेष्ठ फ़ोटो/कार्टून > फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयर: साल 2018 की 12 ‘सर्वश्रेष्ठ तस्वीरें’

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयर: साल 2018 की 12 ‘सर्वश्रेष्ठ तस्वीरें’

फोटो
जैक ऑलिव ने इस तस्वीर के बारे में बताया कि इस छिपकली की आँखों ने उन्हें इस तस्वीर को लेने के लिए प्रेरित किया.

रॉयल सोसायटी ऑफ़ बायोलॉजी ने साल 2018 के ‘फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयर’ की घोषणा कर दी है.

इस साल ये ख़िताब 17 साल के जैक ऑलिव को दिया गया है.

चीते जैसी त्वचा वाली छिपकली की ऐसी तस्वीर जो आंखों की पुतलियां फैला दे, ठंड में पेड़ से झड़कर ज़मीन पर गिरे पत्तों की कलाकारी और उड़ती चिड़ियों की ऐसी तस्वीर जिसे देखकर आंखें ठहर जाएं.

ये तस्वीरें रॉयल सोसायटी ऑफ़ बायोलॉजी के साल 2018 के ‘फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयर’ एंड ‘यंग फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयर’ प्रतियोगिता के लिए भेजी गई थीं.

इस बार इस प्रतियोगिता का विषय ‘पैटर्न इन नेचर’ रखा गया था. प्रकृति ने हर चीज़ को एक अलग रूप, एक अलग रंग और टेक्सचर दिया है.

 

पत्तियों के कटान से लेकर, कीट-पतंगों के उभार, सरीसृपों की त्वचा की बनावट जैसी बारीक़-बारीक़ चीजों को इस प्रतियोगिता में जाँचा-परखा गया.

इसके बाद डेवॉन के 17 साल के ऑलिव को उनकी ‘लेपर्ड गेको’ वाली तस्वीर के लिए ‘फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयर’ के सम्मान से नवाज़ा गया.

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयरइमेज कॉपीरइटROBERTO BUENO

इसके अलावा विजेता तस्वीरों में शामिल रॉबर्ट ब्यूनो की इस तस्वीर ने भी लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा.

कनाडा के यूकोन वैला में पतझड़ के दौरान पत्तों पर से गुज़रे लारवा के निशान किसी अलंकार जैसे नज़र आ रहे थे. पीले-पीले पत्तों पर लारवा के निशान किसी घुमावदार सड़क जैसे दिख रहे थे.

ब्यूनो का कहना है कि पूरा जंगल इन पीले, रचनात्मक पत्तों से भरा पड़ा था. उन्हें देखकर लग रहा था कि मानों हम किसी दूसरी दुनिया में आ गए हों.

इस प्रतियोगिता के लिए 12 तस्वीरों को शॉर्टलिस्ट किया गया था. इसमें 18 साल तक के लोग ही हिस्सा ले सकते थे.

शॉर्टलिस्ट हुईं अन्य तस्वीरें

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयरइमेज कॉपीरइटMILO HYDE

ओर्बी वैरिगाटा के इस फूल को दस साल के माइलो हाइल ने अपने कैमरे में कैद किया.

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयरइमेज कॉपीरइटREBECCA KEEN

केबेक्का कीन ने ये तस्वीर विंडरमर लेक के पास ली. इस तस्वीर में एक मेंढक को अपने अंडों के साथ तैरते हुए देखा जा सकता है.

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयरइमेज कॉपीरइटIMOGEN SMITH

इमोगन स्मिथ ने ये तस्वीर केन्या के लेवा रिज़र्व में ली थी. पानी पीते ज़ेब्रा की परछाई इस तस्वीर को एक कलात्मक रूप देती है.

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयरइमेज कॉपीरइटGUILHEM DUVOT

गुएलहेम डुवोट ने ये तस्वीर स्लोवाकिया में ली थी. उनका कहना है कि “ग्रास-होपर को देख पाना नामुमकिन था, जब वो कूदा तब मुझे पता चला कि यहाँ पत्ती के अलावा कुछ और भी है.”

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयरइमेज कॉपीरइटHÅKAN KVARNSTRÖM

गोल्डन शैवाल का ऐसा रूप शायद आपने पहले नहीं देखा होगा. ये शैवाल दुनियाभर में झीलों और तालाबों के किनारे पाई जाती है.

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयरइमेज कॉपीरइटSTEVE LOWRY

फ़ाइलम क्लास की एक सेल की माइक्रोस्कोपिक तस्वीर.

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयरइमेज कॉपीरइटSEAN CLAYTON

सिएन क्लैटन ने ड्रैगन फ़्लाई के पंख की ये तस्वीर ली है.

उनका कहना है कि ड्रैगन फ़्लाई के पंख अविश्वसनीय रूप से जटिल होते हैं लेकिन जब इन्हें बेहद क़रीब से देखता हूँ तो समझता हूँ कि ये दुनिया के सबसे अच्छे पैटर्न्स में से एक हैं.

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयरइमेज कॉपीरइटVIRAJ GHAISAS

विराज ने ये तस्वीर मुंबई में ली थी. सर्दियों में ये पक्षी कई जगहों पर जमा होते हैं, जहाँ स्थानीय लोग उन्हें रोज़ाना जंक फ़ूड खिलाते हैं.

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयरइमेज कॉपीरइटHENRI KOSKINEN

क्रिस्टलाइज़्ड साइट्रिक एसिड का माइक्रोस्कोपिक रूप. ये तस्वीर हेनरी कोसकिनेन ने खींची.

फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयरइमेज कॉपीरइटSTEVE LOWRY/ROYAL SOCIETY OF BIOLOGY

परागकण खींचते कीट की ये तस्वीर स्टीव लॉरी ने ली.

Share this: