Home > रचनाकर्म > सरकार क्या बदली सरकार ही बन गए माखनलाल के ठाकुर साब

सरकार क्या बदली सरकार ही बन गए माखनलाल के ठाकुर साब

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय
माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय

एडीटर अटैकः प्रशांत राजावत

 

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से उड़ती उड़ती नहीं बल्कि चलती फिरती खबरें आ रही हैं कि वहां के माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के एक ठाकुर साब प्रदेश में सरकार बदलते ही खुद सरकार बन बैठे हैं। सच है कि उन्हें बड़े पद से सरकार ने नवाजा है और वरिष्ठ अध्यापक हैं लेकिन ऐसे थोड़े न होता है..ठाकुर साब दिग्विजय सिंह और कमलनाथ से तो नीचे बात ही नहीं करते। ऐसी चलती फिरती खबरें हैं। हालांकि संघ काल में ये उपेक्षित महसूस कर रहे थे लेकिन उपेक्षित न थे। अब ये सर्वशक्तिमान की तरह दिख रहे हैं। कभी कभी तो कुलपति पर भी हावी हो जाते हैं। ऐसा मैं नहीं कहता चर्चा है।

सुनने में आ रहा है कि माखनलाल विवि में बड़े स्तर पर चल रहे फेरबदल में इन ठाकुर साब का भी हाथ हैं। विवि का स्टाफ भी ये बात स्वीकारता है। सरकार बदलते ही ठाकुर साब के तेवर बदल गए। विवि के ठाकुर साब तुरंत मां-बहन में आ जाते हैं। वैसे इनकी काबीलियत को कोई चुनौती नहीं दे सकता, विरोधी भी स्वीकारते हैं कि समकालीन मीडिया शिक्षकों में ठाकुर साब विषय विशेषज्ञ हैं और शरीफ भी लगते ही हैं। लेकिन फिरहाल सरकार का वरदहस्त पाकर थोड़ा सरकार जैसे हो गए हैं। निकम्मे और सख्त। बहरहाल मेरा मानना है कि विवि में ऐसा व्यवहार नहीं होना चाहिए, काश ये चलती फिरती खबरें झूठी हों और फिर सरकार का क्या…वो तो आती हैं- जाती हैं। क्या पता कब शाह का मूड़ सनक जाए और मध्यप्रदेश में तख्ता पलट जाए..इसलिए सरकार को सरकार रहने दो..और स्वयं को शिक्षक..हालांकि माखनलाल विवि में यह रोग पुराना है..बीजेपी सत्ता काल में भी कई शिक्षक आधे-पूरे सरकार नजर आते थे..सिवाय शिक्षक के…

वैसे तिवारी जी..अरे मतलब कुलपति जी भी प्रोफेसर एडजंक्ट बनाने में व्यस्त हैं.. लगे रहो.. जब तक हो-तब तक हो…

  • एडीटर अटैक मीडिया मिरर सम्पादक का नियमित कॉलम है
Share this: