Home > खबरें > इंदौर के अखबार मालिक पर 10 हजार का इनाम घोषित

इंदौर के अखबार मालिक पर 10 हजार का इनाम घोषित

लोकस्वामी
इंदौर स्थित लोकस्वामी का दफ्तर सील
  • अखबार मालिक जीतू के होटल, घर, दफ्तर पर 24 घंटे चले छापे में मिलीं थी 67 युवतियां; 150 करोड़ की जमीनों की 30 रजिस्ट्रियां जब्त
  • चौतरफा कार्रवाई पर सवाल भी: हनी ट्रैप में नए खुलासों के बाद कार्रवाई, क्या नेताओं- अफसरों को एक्सपोज होने से बचाने की कोशिश?
इंदौर. ( दैनिक भास्कर)  यहां हनी ट्रैप मामले में शनिवार रात पुलिस ने सांझा लोकस्वामी अखबार के मालिक जीतू उर्फ जितेंद्र सोनी और उनके बेटे अमित सोनी के होटल माय होम, घर और दफ्तरों पर छापा मारा था। कार्रवाई के बाद सोनी के अखबार कार्यालय को सील कर दिया गया था।

पुलिस का कहना था कि कुछ जांच के बाद सोमवार सुबह तक अखबार के दफ्तर की सील खोल दी जाएगी। लेकिन अभी भी ताला लगा है। उधर पुलिस ने फरार जीतू सोनी पर 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। वहीं उसके बेटे अमित सोनी को मानव तस्करी के केस में पलासिया पुलिस ने कोर्ट पेश कर 4 दिन (6 दिसंबर तक) के पुलिस रिमांड पर लिया है। इसके साथ ही माय होम के फरार मैनेजर जे वरदप्रसाद राव को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने नगर निगम के सस्पेंड इंजीनियर हरभजन सिंह की शिकायत पर यह कार्रवाई करने की बात कही थी।

तीसरी बार अमित को अखबार के कार्यालय ले गई पुलिस

सोमवार को पुलिस गिरफ्तार अमित सोनी को लेकर जांच के लिए तीसरी बार अखबार कार्यालय पहुंची और दस्तावेजों की जांच की। एसएसपी रुचि वर्धन मिश्र के अनुसार लोकास्वामी कार्यालय में रखे लॉकरों में कुछ अहम दस्तावेज मिलने की संभावना है जिसके चलते मुख्य आरोपी जीतू सोनी के बेटे अमित को लेकर टीम वहां पहुंची और जांच की।वहीं सोमवार को मप्र हाईकोर्ट की इंदौर खंडपीठ में हनी ट्रैप मामले में दायर जनहित याचिका पर भी सुनवाई हुई। याचिकाकर्ता दिग्विजयसिंह के वकील मनोहर दलाल ने कोर्ट में प्रस्तुत सीडी रिकॉर्ड पर लेने के साथ मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की। वहीं हनी ट्रैप मामले में फरियादी हरभजन सिंह के वकील अविनाश सिरपुरकर ने मामले के संबंध में प्रकाशित होने वाले समाचारों के साथ ही सामने आ रहे ऑडियो-वीडियो पर रोक लगाने की मांग की। सुनवाई के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा है।
पुलिस की इस कार्रवाई पर कई सवाल भी उठाए जा रहे हैं। हनी ट्रैप मामले में लोकस्वामी द्वारा किए गए नए खुलासों के बाद इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया। सवाल यह उठ रहा है कि क्या नेताओं- अफसरों को एक्सपोज होने से बचाने की कोशिश की जा रही है।

होटल से मिली थीं 67 युवतियां, जिस्मफरोशी का शक
एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र के मुताबिक होटल माय होम में की कई छापेमारी के दौरान पुलिस को 67 युवतियां मिलीं थी, जिन्हें बंधक बनाकर जिस्मफरोशी करवाने का शक है। यह सभी युवतियां काफी डरी हुई है। इन्हें अमानवीय तरीके से माय होम में रखा गया था। कमरों में कई सारे पलंग लगे थे जिनके मध्य पर्दे लगे थे जहां इन युवतियों को रहना पड़ रहा था। एसएसपी के अनुसार पकड़ाई गई लड़कियों की औसत उम्र 20 से 21 साल है, कई लड़कियां नाबालिग नजर आ रही है जिनकी उम्र की जांच की जा रही है। यदि कुछ लड़कियां नाबालिग पाई जाती है तो पॉक्सो एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया जाएगा।

आरोपी के घर से पुलिस को हनी ट्रैप कांड से जुड़े दस्तावेज, पेन ड्राइव, सीडी, 30 से ज्यादा प्लॉटों, जमीनों की रजिस्ट्री मिली है, जिनकी बाजार कीमत 150 करोड़ से ज्यादा है। रविवार तक चली कार्रवाई के बाद पुलिस ने जीतू सोनी, अमित व अन्य परिजनों पर मानव तस्करी, आईटी एक्ट, आर्म्स एक्ट, प्रतिबंधात्मक और शासकीय कार्य में बाधा के केस दर्ज किए हैं।

होटल के छोटे-छोटे कमरों डांस बार, 7 बच्चे भी रेस्क्यू किए

अमित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, जीतू सोनी की तलाश में टीमें लगाई हैं। पुलिस व प्रशासन के साथ महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम ने रात 10.24 मिनट पर जब माय होम में दबिश दी तो वहां छोटे-छोटे कमरों में चल रहे डांस बार में युवतियों के साथ 7 बच्चे भी थे। सभी को रेस्क्यू कर निकाला।

Share this: