Home > खबरें > कोरोना से सचेत करती कॉलरट्यून से आरजे जसलीन आउट, बिग बी इन

कोरोना से सचेत करती कॉलरट्यून से आरजे जसलीन आउट, बिग बी इन

जसलीन भल्ला, वाइस ओवर आर्टिस्ट। तस्वीर साभार एनडीटीवी

मीडिया मिरर न्यूज, नई दिल्ली।

कोरोना महामारी के प्रति जागरूकता के बारे में बताती फोन की कॉलर ट्यून हम सब पिछले कई महीनों से लगातार सुन रहे हैं। ये आवाज रेडियो जॉकी जसलीन भल्ला की थी। आपको किसी को भी फोन लगाएंगे तो कोरोना महामारी के संदर्भ में जसलीन की आवाज में ही संदेश सुनाई पड़ता था।

लेकिन नई जानकारी के मुताबिक आरजे जसलीन भल्ला की जगह अभिनेता अमिताभ बच्चन ने ले ली है। आगामी समय से आपके फोन में कोरोना जागरूकता संदेश अब बिग बी का आवाज में सुनाई देगा। श्री बच्चन ने रिकार्डिंग पूरी कर ली है। गौरतलब है कि पूर्व में भी अमिताभ बच्चन स्वाथ्य जागरूकता से जुड़े संदेश औऱ विज्ञापनों का हिस्सा रहे हैं। जिनमें पोलियो का संदेश प्रमुख है। वैसे अमिताभ बच्चन स्वयं कोरोना की जद में आ चुके हैं और अब वो संदेश कहते मिलेंगे जबतक दवाई नहीं तकतक ढिलाई नहीं। ऐसा कहा जा रहा है कि एक ही तरह की आवाज सुनते सुनते लोग बोर न हो जाएं इसलिए संदेश की आवाज में परिवर्तन किया गया है। वैसे भी अमिताभ लोगों के प्रिय हैं।

 

दिल्ली की जसलीन ने घर में रिकार्ड किया था कोरोना जागरूकता संदेश 

‘नमस्कार, कोरोना वायरस या कोविड 19 से आज पूरा देश लड़ रहा है. पर याद रहे, हमें बीमारी से लड़ना है, बीमार से नहीं. उनसे भेदभाव न करें, उनकी देखभाल करें.’

कोरोना वायरस संकट के इस दौर में अगर आप किसी को फोन लगा रहे होंगे तो दूसरी तरफ फोन उठने से पहले यह संदेश जरूर सुन रहे होंगे. इस संदेश में जो आवाज है उसे शायद ही कोई हो जो अब न पहचानता हो. यह आवाज दिल्ली की जसलीन भल्ला की है. कोरोना वायरस संकट को लेकर उनकी आवाज में रिकॉर्ड हुए संदेश आज कॉलर ट्यून के रूप में पूरा देश सुन रहा है.

जसलीन भल्ला दिल्ली में रहती हैं. वे वॉयस ओवर आर्टिस्ट हैं. दिल्ली विश्वविद्यालय से ग्रेजुएट जसलीन पिछले दस साल से इस पेशे में हैं. इससे पहले भी वे कई विज्ञापनों में अपनी आवाज दे चुकी हैं. जसलीन बताती हैं कि कोरोना वायरस का संक्रमण जब शुरुआती दिनों में था तो उनके एक प्रोड्यूसर ने उन्हें एक स्क्रिप्ट दी. उनसे कहा गया कि यह बहुत महत्वपूर्ण काम है जो स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने दिया है. जसलीन के मुताबिक उन्हें निर्देश दिया गया था कि इस संदेश को एक जिम्मेदारी वाले भाव के साथ पढ़ना है.

तब तक उन्हें पता नहीं था कि यह एक कॉलर ट्यून है. जसलीन भल्ला ने अपने घर पर ही बनाए गए स्टूडियो में रिकॉर्डिग की. इसे मंजूरी मिल गई. इसके बाद कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर उनके पास और भी कई संदेश वॉयस ओवर के लिए आ गए. एक समाचार वेबसाइट से बात करते हुए जसलीन कहती हैं, ‘कोरोना महामारी के दौरान सब अपनी तरह से योगदान कर रहे थे. मुझे लोगों को जागरूक करने का मौका मिला.’ उनकी आवाज में रिकॉर्ड संदेशों ने एक तरफ लोगों को जागरूक किया है तो दूसरी तरफ उन्हें सेलिब्रिटी भी बना दिया है

जसलीन ने अपने करियर की शुरूआत खेल पत्रकार के तौर पर की थी। बाद में उन्होंने वॉयस ओवर कलाकार के तौर पर खुद को व्यस्त कर लिया और पिछले दस वर्ष से वो यह काम कर रही हैं। अगर आपने डोकोमो, हॉर्लिक्स और स्लाइस मैंगो ड्रिंक का विज्ञापन ध्यान से सुना होगा तो आप इस आवाज को जरूर पहचान लेंगे।

इनपुटः सत्याग्रह, अमरउजाला

Share this: