Home > खबरें > उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के पुरस्कारों की घोषणा

उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के पुरस्कारों की घोषणा

डॉ सूर्यबाला, जिन्हें भारत भारती पुरस्कार मिला

लखनऊ।

 उत्तर प्रदेश ह‍िंदी संस्थान के 2019के सम्मानों/ पुरस्कारों की घोषणा शुक्रवार को की गई। हिंदी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. सदानंद प्रसाद गुप्त की अध्यक्षता में हुई बैठक में निर्णय लिया गया। 2019 का पांच लाख रुपये का प्रतिष्ठित भारत भारती सम्मान मुंबई की डॉ. सूर्यबाला को दिया जाएगा।

चार लाख रुपये का लोहिया साहित्य सम्मान लखनऊ के दयानंद पांडेय को मिलेगा। चार लाख रुपये का हिंदी गौरव सम्मान दिल्ली के तरुण विजय को दिया जाएगा। चार लाख रुपये का महात्मा गांधी साहित्य सम्मान भोपाल के डा. रामेश्वर प्रसाद मिश्र ‘पंकज’ को मिलेगा। चार लाख का पं. दीनदयाल उपाध्याय साहित्य सम्मान दिल्ली के डा. सूर्यकांत बाली को दिया जाएगा। चार लाख रुपये का अवन्तीबाई साहित्य सम्मान भोपाल के डा. कपिल तिवारी को मिलेगा। चार लाख रुपये का राजर्षि पुरुषोत्तमदास टंडन सम्मान राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा को दिया जाएगा।

दो लाख रुपये का लोक भूषण सम्मान झांसी के पन्ना लाल ‘असर’, दो लाख रुपये का कला भूषण सम्मान बरेली के डा. राजेन्द्र सिंह पुंडीर, दो लाख रुपये का विद्या भूषण सम्मान जयपुर के डा. ब्रजेन्द्र कुमार सिंहल, दो लाख रुपये का विज्ञान भूषण सम्मान लखनऊ के डा. विनोद जैन, दो लाख रुपये का पत्रकारिता भूषण सम्मान भोपाल के पत्रकार डा. राजेन्द्र शर्मा, दो लाख रुपये का प्रवासी भारतीय हिन्दी भूषण सम्मान अमेरिका की रेणु राजवंशी गुप्ता, दो लाख रुपये का हिंदी विदेश प्रसार सम्मान कनाडा के रत्नाकर नराले को दिया जाएगा।

दो लाख रुपये का बाल साहित्य भारती सम्मान दिल्ली के देवेन्द्र कुमार, पटियाला की सुकीर्ति भटनागर को मिलेगा। दो लाख रुपये का मधुलिमये साहित्य सम्मान गोरखपुर के डा. कृष्णचन्द्र लाल को दिया जाएगा। दो लाख रुपये का पं. श्रीनारायण चतुर्वेदी साहित्य सम्मान कानपुर के डा. सुरेश अवस्थी को मिलेगा। दो लाख रुपये का विधि भूषण सम्मान गाजियाबाद के अरविन्द जैन को दिया जाएगा। एक लाख रुपये का मदन मोहन मालवीय विश्वविद्यालय स्तरीय सम्मान लखनऊ के डा. पवन अग्रवाल और प्रयागराज के डा. योगेन्द्र प्रताप सिंह को दिया जाएगा।

( खबर सभार दैनिक जागरण लखनऊ)

Share this: