Home > खबरें > पत्रकार की मौत, पुलिस ने बताया हादसा, केस दर्ज किया हत्या का

पत्रकार की मौत, पुलिस ने बताया हादसा, केस दर्ज किया हत्या का

एक दिन पहले ही पुलिस से सुरक्षा मांगी थी

प्रतापगढ़ उत्तरप्रदेश से हिंदुस्तान की रिपोर्टः 

प्रतापगढ़ में एक टीवी चैनल के पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत के मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज हो गया है। सुलभ की रविवार देर रात सड़क किनारे लाश मिली थी। पुलिस ने मामले को हादसा बताया था। एक दिन पहले शनिवार को ही सुलभ ने शराब माफियाओं से अपनी जान को खतरा बताते हुए पुलिस अधिकारियों को शिकायती पत्र दिया था। इसके बाद भी उसे सुरक्षा नहीं मिल सकी थी। बताया जाता है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मिले कुछ सबूतों के कारण पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पत्रकार की मौत को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी यूपी सरकार पर हमला बोला।

नगर कोतवाली क्षेत्र के रेलवे स्टेशन मोहल्ले में रहने वाले सुलभ श्रीवास्तव (40) रविवार शाम एक घटना के कवरेज के लिए लालगंज कोतवाली गए थे। रात करीब 10:30 बजे वहां से लौट रहे थे। नगर कोतवाली क्षेत्र के सुखपाल नगर इलाके में संदिग्ध हालत में रोड  किनारे अर्धनग्न अवस्था में मिले। सिर पर चोट के निशान मिले। शर्ट के सारे बटन खुले हुए थे। स्थानीय लोगों की सूचना पर उन्हें राजकीय मेडिकल कॉलेज (जिला अस्पताल) पहुंचाया गया। यहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना मिलने पर परिजन मेडिकल कॉलेज पहुंचे।

पुलिस ने पहले बताया कि सुलभ लालगंज से लौटते समय हादसे का शिकार हो गए थे। उन्हें जिला अस्पताल लाया गया जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने बताया था कि प्रथमदृष्टया लगता है कि उनकी बाइक एक हैंडपंप से लड़ने के बाद दुर्घटना का शिकार हो गई।

घटना  की जानकारी मिलते ही अस्पताल पहुंचे घर वालों ने हत्या का आरोप लगाया। परिजनों ने कहा कि सुलभ की मौत सड़क हादसे में नहीं हुई है। साजिश के तहत उनकी हत्या की गई। सोमवार को सुबह इसे लेकर विपक्षी दलों ने भी सरकार पर हमला बोल दिया। अखिलेश यादव और प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर पुलिस और सरकार पर कई आरोप लगाए।

Share this: