Home > खबरें > इंडियन वुमेन प्रेस कार्प को आवंटित भवन खाली करने का नोटिस

इंडियन वुमेन प्रेस कार्प को आवंटित भवन खाली करने का नोटिस

इंडियन वुमेन प्रेस कार्प का दिल्ली स्थित भवन
  • 30 लाख का भुगतान करना है संस्था को वरना सरकार द्वारा आवंटित शानदार भवन छोड़ना होगा
  • हालांकि संस्था की ओर से कहा गया है कि लॉकडाउन के चलते ये स्थिति बनी, बकाया जल्द दिया जाएगा

नई दिल्ली, प्रेट्र।

सरकार ने लुटियंस दिल्ली के विंडसर प्लेस में इंडियन वूमेंस प्रेस कोर (आइडब्ल्यूपीसी) को बेदखली का नोटिस जारी कर उसे बकाया राशि का तुरंत भुगतान करने को कहा है। यह जानकारी शनिवार को एक अधिकारी ने दी।

यह नोटिस पांच अगस्त को संपदा निदेशालय द्वारा जारी किया गया था। इस संबंध में संपर्क किए जाने पर आइडब्ल्यूपीसी की एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने टिप्पणी से इन्कार कर दिया।

नोटिस के अनुसार, आइडब्ल्यूपीसी को 13 मई, 1994 को भवन का आवंटन किया गया था। आवंटन अवधि समाप्त होने के बाद इसे छह जनवरी, 2021 को रद कर दिया गया था।

अधिकारी ने कहा कि हमने आइडब्ल्यूपीसी को नोटिस भेजकर सरकारी जगह खाली करने को कहा है। उससे बकाया राशि का भुगतान करने को भी कहा गया है।

अधिकारी ने कहा कि यदि बकाया राशि का भुगतान कर दिया जाता है, तो सक्षम प्राधिकारी उक्त परिसर खाली नहीं कराने पर विचार कर सकते हैं।

30.30 लाख रुपये बकाया राशि का करना है भुगतान

मंत्रालय ने बुधवार को एक प्रश्न के उत्तर में राज्यसभा को बताया था कि इंडियन वीमेन प्रेस कोर को इस साल 30 जून तक की 30.30 लाख रुपये बकाया राशि का भुगतान करना है। सरकार ने बताया था कि नयी दिल्ली में बाबू जगजीवन राम नेशनल फाउंडेशन, फखरुद्दीन अली मेमोरियल कमेटी, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी रिसर्च फाउंडेशन एवं लालबहादुर शास्त्री मेमोरियल सहित छह संगठनों पर जमीन आवंटन के एवज में 30 जून तक 1.4 करोड़ रुपये का बकाया था। सरकार के अनुसार, इनमें जो दो अन्य प्रतिष्ठान शामिल हैं, उनका नाम है-इंडियन वुमन प्रेस कोर और महिला दक्षता समिति।

Share this: