Home > साथी की ख़ूबी > एक पत्रकार के तौर पर ज़मीनी हक़ीक़त के समझदार और ग़ज़ब के विश्लेषक राजीव

एक पत्रकार के तौर पर ज़मीनी हक़ीक़त के समझदार और ग़ज़ब के विश्लेषक राजीव

राजीव रंजन सिंह
  • साथी की ख़ूबी
    इंडिया टीवी के प्रबंध सम्पादक अजीत अंजूम की कलम से:

जिन चंद लोगों की संगति मुझे बहुत पसंद है , उनमें राजीव रंजन सिंह भी है ..ग़ज़ब की ज़िंदादिली है इनमें…Positive energy से लबरेज़ …हर हाल में राजीव की मौजूदगी एक ख़ुशनुमा अहसास देती है …एक पत्रकार के तौर पर ज़मीनी हक़ीक़त के समझदार और ग़ज़ब के विश्लेषक ….
बाकपटु तो हैं ही …न्यूज 24 पर माहौल क्या है के नाम से एक शो करते हैं ..कभी देखिए तो इनके अंदाज के शायद आप भी मुरीद हो जाएँ …
2014 के चुनाव के दौरान राजीव ने दिल्ली एक्सप्रेस के नाम से एक शो किया था …हर एपिसोड में कुछ न कुछ ऐसा ज़रूर होता था , जो लाजवाब होता था …खाँटी देसी अंदाज में ज़मीनी हक़ीक़त से रूबरू क़राने वाले शो करते हैं राजीव ….
हम साथ काम करते थे तो इनकी संगति का आनंद उठाते थे …दूर हुए तो मिलना -जुलना मुश्किल हो गया …दफ़्तरीय मजबूरी हम दोनों के बीच आड़े आ गई …
तुम बहुत अच्छे हो राजीव …पत्रकार के तौर पर भी और इंसान के तौर पर भी …

Share this: