अरुंधति रॉय के युवावस्था के दिन

अरुंधति रॉयः हंगामा क्यों हैं बरपा

त्वरित टिप्पणी डॉ प्रशांत राजावत, सम्पादक मीडिया मिरर  अरुंधति रॉय फिर चर्चा में हैं। किताब की वजह से नहीं अपने बयान की वजह से। दरअसल किताब तो उनकी पश्चिम वाले ही देखते समझते हैं। हमारे यहां के लोग तो उनके बयान पर मर मिटते हैं। मामला दरअसल ये है कि अरुंधति रॉय कल दिल्ली विश्वविद्यालय पहुंची और उन्होंने नेशनल पापुलेशन रजिस्टर मामले पर बोलते हुए तमाम बातें कह डालीं जो सरकार और उनके चाहने वालों को चुभ गईं और फिर क्या। चल निकला हंगामा। अरुंधति रॉय ने कल कहा कि एनसीआर की शुरूआत करने का ही जरिया एनपीआर है। और इस बारे में सरकारी कर्मचारी जब आएँ तो उन्हें सही... Read more
गंगा प्रसाद विमल

बेटी और नाती के साथ साहित्यकार गंगा प्रसाद विमल का सड़क हादसे में श्रीलंका में निधन

श्रीलंका से दिल्ली पहुंचा शव नई दिल्ली/कोलंबो:  हिंदी के प्रसिद्ध साहित्यकार गंगा प्रसाद विमल  तथा उनके दो परिजनों का दक्षिण श्रीलंका में एक सड़क दुर्घटना में निधन हो गया. 80 वर्षीय विमल परिवार के साथ श्रीलंका की निजी यात्रा पर गये थे. विमल के एक पारिवारिक मित्र ने बताया कि सड़क हादसे में विमल के साथ उनकी पुत्री कनुप्रिया और नाती श्रेयस का भी निधन हो गया. विमल के निधन पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने शोक प्रकट किया. साहित्य जगत के अनेक लोगों ने भी विमल के परिवार के साथ संवेदना प्रकट की. श्रीलंका से आई खबर के... Read more
लेखक

साहित्य अकादमी पुरस्कार 2019 की पूरी सूची देखिए

नई दिल्ली ( एचटी मीडिया)- साहित्य अकादमी ने हिन्दी के लिए नंदकिशोर आचार्य, अंग्रेजी के लिए सांसद डॉ शशि थरूर, उर्दू के लिए प्रो. शाफे किदवई और पंजाबी भाषा के लिए किरपाल कज़ाक समेत 23 भारतीय भाषाओं के रचनाकारों को वर्ष 2019 का प्रतिष्ठित साहित्य अकादमी पुरस्कार देने की बुधवार (18 दिसंबर) को घोषणा की। एक बयान में साहित्य अकादमी के सचिव के. श्रीनिवासराव ने बताया कि सात कविता-संग्रह, चार उपन्यास, छह कहानी-संग्रह, तीन निबंध संग्रह, एक-एक कथेतर गद्य, आत्मकथा और जीवनी के लिए साहित्य अकादेमी पुरस्कार घोषित किए गए है। उन्होंने बताया कि पुरस्कारों की अनुशंसा 23 भारतीय भाषाओं की निर्णायक समितियों द्वारा की गई तथा साहित्य अकादेमी के... Read more
जगदीश उपासने।

जगदीश उपासने रच रहे मेरे खिलाफ षणयंत्रः दिलीप मंडल

मीडिया मिरर न्यूज, दिल्लीः माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विवि. के ताजा विवाद में आरोपी प्रोफेसर दिलीप मंडल का बयान आ गया है। उन्होंने कहा कि विवि के पूर्व कुलपति जगदीश उपासने उनके खिलाफ षणयंत्र रच रहे हैं। दिलीप मंडल ने बताया कि कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विवि में कुलपति पद के लिए आवेदन मांगे गए थे। उसमें अंतिम चयनित आवेदनों में मेरा और उपासने का नाम है। उपासने नहीं चाहते कि मैं वहां कुलपति बन पाऊं इसलिए वो माखनलाल विवि में छात्रों को मोहरा बनाकर मेरे खिलाफ षणयंत्र रच रहे हैं। गौरतलब है कि माखनलाल विवि के छात्रों ने प्रोफेसर दिलीप मंडल औऱ मुकेश कुमार पर सोशल मीडिया और कक्षाओं में जातिगत... Read more
माखनलाल पत्रकारिता वि.वि.

माखनलाल विवि विवादः दोनों आरोपी प्रोफेसरों के बयान पढ़िए

माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय भोपाल में भी हंगामा चल रहा है। मीडिया मिरर ने इस मुद्दे पर खबरें प्रसारित की हैं। आपने पढ़ी ही होंगी। अब इस मामले पर दोनोंआरोपी प्रोफेसरों के बयान आ गए हैं। उनको पढ़िए और राय बनाइए। दिलीप मंडल और मुकेश कुमार दोनों के वो बयान जो उन्होंने स्वयं लिखे हैं। इसके साथ ही बता दें कि इन दोनों प्रोफेसरों को 15 दिन के लिए विश्वविद्यालय प्रवेश पर बैन कर दिया गया है। इन पर छात्रों को लेकर जातिगत टिप्पणी के आरोप हैं। एक जांच कमेटी गठित की गई है जो 15 दिन में फैसला देगी, तब तक के लिए ये एडजंक्ट प्रोफेसर एक... Read more
जीतू सोनी

लोकस्वामी अखबार का दफ्तर में जमींदोज, मालिक पर एक लाख का ईनाम किया

फर्जीवाड़े की बात सामने आने के बाद प्रेस कॉम्प्लेक्स स्थित लोकस्वामी अखबार की बिल्डिंग पर कार्रवाई की गई इसके पहले सोनी के निवास जग विला सहित दो बंगले और तीन होटलों पर नगर निगम बुलडोजर चला चुका है लोकस्वामी अखबार के मालिक जीतू सोनी पर एक लाख का ईनाम पुलिस ने रखा इंदौर ( दैनिक भास्कर की रिपोर्ट). नगर निगम और पुलिस-प्रशासन ने बुधवार को फरार जीतू सोनी की और प्रॉपर्टी को जमींदोज कर दिया। टीम ने प्रेस काॅम्पलेक्स स्थित लोकस्वामी अखबार के कार्यालय और उसके साथ बने अन्य कार्यालयों की बिल्डिंग को ढहा दिया। सुबह 6 बजे से दोपहर 11 बजे तक करीब 5 घंटे की कार्रवाई में निगम ने 32 हजार वर्ग फीट पर हुए करीब 24 हजार... Read more
माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय

प्रोफेसर दिलीप मंडल औऱ मुकेश कुमार की वि.वि. में एंट्री बैन

भोपाल:  टीवी पत्रकार मुकेश कुमार और बहुचर्चित दिलीप मंडल कुछ महीने पहले ही एडजंक्ट प्रोफेसर माखनलाल चतुर्वेदी पत्रतकारिता विवि भोपाल में बनाए गए थे। पर कुछ ही माह में हालात ये बन गए कि दोनों माननीयों की विश्वविद्यालय में एंट्री बैन कर दी गई है। मुद्दा ये है कि दिलीप मंडल और मुकेश कुमार पर छात्रों ने जातिगत टिप्पणियां करने और भेदभाव का आरोप लगाया है। दिलीप मंडल की सोशल मीडिया पर सक्रियता और मुद्दे किसी से अपरिचित नहीं हैं। ऐसे में छात्र बुधवार से उग्र हैं। प्रदर्शन कर रहे हैं। शुक्रवार को प्रदर्शन इस कदर बढ़ा कि कुलपति को कैंपस में पुलिस बुलानी पड़ी। हालांकि अब जांच कमेटी बन... Read more
नीलाभ अश्क

नीलाभ फ्लर्ट थे या विनम्र, पता नहीः भूमिका व्दिवेदी

मीडिया मिरर की साक्षात्कार श्रृंखला में हमारी अतिथि हैं भूमिका व्दिवेदी। भूमिका कथाकार हैं, दिल्ली रहती हैं। मूलरूप से इलाहाबाद की रहने वाली हैं। भूमिका को भारतीय ज्ञानपीठ का नवलेखन पुरस्कार (उपन्यास बोहनी के लिए) , मीरा पुरस्कार (उपन्यास आसमानी चादर के लिए) मिल चुका है। हिंदी साहित्य जगत में युवा लेखकों की कतार में उनका नाम बड़े आदर से लिया जाता है। ये तो भूमिका की निजी पहचान औऱ कमाई है। इसके अलावा वो प्रसिद्ध साहित्यकार उपेंद्रनाथ अश्क की बहू और लेखक, अनुवादक नीलाभ अश्क की पत्नी हैं। दरअसल इस श्रृंखला के लिए मिरर ने कई विशिष्ठ लोगों से साक्षात्कार किए हैं। पर ये साक्षात्कार थोड़ा अलग है। ये... Read more
जीवनी

भास्कर के मुखिया स्वर्गीय रमेशचंद्र अग्रवाल की जीवनी का विमोचन

भोपाल. दैनिक भास्कर समूह के चेयरमैन स्वर्गीय रमेशचंद्र अग्रवाल के 75वें जन्मदिन पर उनकी याद में दो दिवसीय प्रेरणा उत्सव का आयोजन किया गया। इसी कड़ी में शनिवार को रमेशजी की जीवनी पर लिखी गई किताब का मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और इंडिया टीवी के एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा ने विमोचन किया। द संस्कार वैली स्कूल में हुए विमोचन समारोह में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- ‘‘रमेशजी ने दैनिक भास्कर ही नहीं, बल्कि पूरे मध्यप्रदेश की ब्रांडिंग की है। उनका जीवन प्रेरणादायी रहा है। मेरा रमेशजी से लंबे समय तक नाता रहा है। मध्य प्रदेश के प्रति उनका विजन विकास को समर्पित था।’’ शिवराज सिंह चौहान ने... Read more

पाकिस्तानी अखबार डॉन के दफ्तर पर हमला, स्टाफ को बंधक बनाया

इस्लामाबाद | एजेंसी पाकिस्तान के डॉन अखबार ने लंदन ब्रिज के हमलावर उस्मान खान पर खबर प्रकाशित की थी। इसमंे उसकी पहचान पाक मूल के व्यक्ति के रूप में दी गई थी। इससे नाराज हजारों की तादाद में प्रदर्शनकारी बैनर लेकर अखबार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए अखबार के कार्यालय पहुंच गए और स्टाफ को बंधक बना लिया। इस घटना की देशभर में निंदा हो रही है। Read more