आईएएस खेमका पर किताबः ‘जस्ट ट्रांसफर्ड : द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ अशोक खेमका’

27 साल की नौकरी में 53 तबादलों के लिए चर्चित हरियाणा के सीनियर आईएएस अशोक खेमका एक बार फिर सुर्खियों में आने वाले हैं। इस बार उनके जीवन पर एक किताब आ रही है। दिल्ली के पत्रकार भवदीप कंग और नमिता काला द्वारा लिखी गई किताब ‘जस्ट ट्रांसफर्ड : द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ अशोक खेमका’ का 7 मार्च को विमोचन होगा। यह किताब हार्पर कॉलिंस द्वारा प्रकाशित की जा रही है। भाजपा हो या कांग्रेस हर राज में हुए खेमका के तबादले कांग्रेस हो या भाजपा हर पार्टी राज में अशोक खेमका को तबादले झेलने पड़े। जब भी उनका ट्रांसफर होता है तो वे सुर्खियों में छा जाते हैं। हालांकि, सबसे ज्यादा सुर्खियां उन्होंने... Read more
हरिवंश जी

वरिष्ठ पत्रकार हरिवंश फिर राज्यसभा के उम्मीदवार

वरिष्ठ पत्रकार और राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश सिंह एक बार फिर जदयू की ओर से राज्यसभा के उम्मीदवार बनाए गए हैं। प्रभात खबर में बड़े तेज तर्रार और काबिल सम्पादक रहे हैं। हाल ही में अंग्रेजी में कुछेक किताबें लिखी हैं। उनके बारे में जनसत्ता में पत्रकार रहे सुरेंद्र किशोर कुछ बता रहे हैं।    हरिवंश के लिए शुभकामनाएं .................................. हरिवंश को दुबारा राज्य सभा के लिए उम्मीदवार बनाने को लेकर कई लोग आशंकित थे। ऐसा इसलिए भी हुआ क्योंकि नीतीश कुमार ऐसी घोषणाएं समय से पहले नहीं करते। इसलिए संभवतः उनके आसपास भी ऐसी कोई चर्चा तक नहीं होती। पर, मुझे हमेशा यह लगा कि हरिवंश दुबारा वहां जाएंगे।... Read more
corona

कोरोनाः निर्दयी मीडिया मुगलों के ह्दय की तासीर समझिए

एडीटर अटैक मीडिया संस्थानों में कोरोना का भय लेकिन रोकथाम के लिए कुछ नहीं,  क्योंकि जिंदगी यहां बड़ी सस्ती है सीधे मुद्दे पर आते हैं। ईश्वर लोगों को ताकत दे, धन दे, एश्वर्य दे लेकिन साथ साथ एक अच्छी सोच भी दे ताकि वो अपने दल-बल का उपयोग जनहित में कर सके। पर कहते हैं न इस देश में सारी शक्तियां और पैसा उल्लुओं को थमा दी गई हैं और गंवार नेताओं को। जिनको आम लोगों से मतलब ही क्या। फिर वो मीडिया संस्थानों के अरब खरबपति मालिक ही क्यों न हों। एक ऐसे दौर में जब पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का खौफ है। सारा संसार चौकन्ना और डरा... Read more
सिंधिया

क्या सिंधिया को साध पाएगी भाजपा ?

  बीजेपी के तुदक्कड़, चोटीधारी, गमछाधारी, भगवाधारी नेताओं के बीच टू मच हैंडसम सिंधिया तालमेल कैसे बिठाते हैं ये देखने लायक होगा। मुझे तो सोचकर हंसी आती है कि गिरिराज सिंह बैठे हों और एक ओर सिंधिया। सिंधिया को जुंबा केसरी खाने टाइप फीलिंग होने वाली है। हाहाहा।    राजनीति का मतलब ही यही है कि राज के लिए नीति बनती रहे, होती रहे। वरना राजनीति काहे की। जनादेश-वनादेश सब निरी बकवास बातें हैं। बीजेपी जो कर रही है। वाकई वही राजनीति है। अमित शाह जो कर रहे हैं वही राजनीति है। अब राजनेता तो राजनीति ही करेगा औऱ वही उसका धर्म है। बनी बनाई सरकार को पटकनी देना तो... Read more

दिल्ली हिंसा: उपद्रवी भीड़ ने कई पत्रकारों को पीटा, एक को गोली लगी

नई दिल्ली: उत्तर पूर्वी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जारी हिंसा के बीच उपद्रवी भीड़ ने रिपोर्टिंग करने गए एनडीटीवी के तीन रिपोर्टरों और एक कैमरापर्सन पर हमला कर दिया. इसके अलावा मौजपुर में एक टीवी चैनल के पत्रकार को भी गोली लगी है. एनडीटीवी के मुताबिक उनके पत्रकार वहां अपना काम कर रहे थे और उस समय वहां भीड़ को नियंत्रित करने के लिए कोई पुलिसवाला मौजूद नहीं था. पत्रकार अरविंद गुणशेखर को एक भीड़ ने घेर लिया और उनके चेहरे पर मारा. चैनल के मुताबिक अरविंद का एक दांत टूट गया, उनके सिर पर एक लाठी पड़ने वाली थी कि तभी एनडीटीवी के ही सहयोगी सौरभ शुक्ला ने उन्हें बचाया. वो लाठी... Read more
अकोस्टा

ट्रम्प से भिड़ा सीएनएन रिपोर्टर, बोला, हमारा रिकॉर्ड आपसे बेहतर

[caption id="attachment_4977" align="alignleft" width="300"]  सुधीर चौधरी के शब्दः  सबसे शक्तिशाली सेल्फी! विश्व प्रधानमंत्री @narendramodi और राष्ट्रपति @realDonaldTrump के दो सबसे शक्तिशाली नेताओं के साथ फ्रेम साझा करना एक सम्मान था ।[/caption] नई दिल्ली।  गोदी मीडिया और डिजाइनर मीडिया के इस दौर में भारत में ये चर्चाएं आम हैं कि पत्रकार अपने नैतिक मूल्यों से इतर चापलूसी और गुटबाजी करने में व्यस्त हैं। नेताओं के पिछलग्गू बन बैठे हैं। ये महज संयोग है कि एक ओर जी न्यूज के एडीटर सुधीर चौधरी मोदी और ट्रंप के साथ राष्ट्रपति भवन में सेल्फी लेने में व्यस्त थे तो वहीं आईटीसी मौर्या में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में सीएनएन का पत्रकार अमेरिकी राष्ट्रपति से भिड़... Read more
rana ayub

Rana Ayyub awarded with McGill Medal for journalistic courage

Rana Ayyub, global opinions writer at the Washington Post, who has reported on religious violence and extrajudicial killings by the state in India, will receive the 2020 McGill Medal for journalistic courage. The medal ceremony will take place in the Peyton Anderson Forum at Grady College on Wednesday, April 22 at 3:30 p.m. In a career spanning fourteen years, Ayyub has been awarded the Sanskriti award for integrity and excellence in journalism from the President of India. She was the recipient of the Global Shining Light award for Investigative journalism in the year 2017 and the Most Resilient Global Journalist of 2018 at the Peace Palace in Hague. Ayyub authored... Read more
साहित्य अकादमी

साहित्य अकादमी सचिव पर यौन शोषण का आऱोप

नई दिल्ली। साहित्य अकादमी अपने सचिव के श्रीनिवास राव पर लगे आरोपों की वजह से एक बड़ी बदनामी भरे विवाद से घिर गई है। राव पर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाने वाली एक महिला अधिकारी को उनका प्रोबेशन पीरियड पूरा होने से एक दिन पहले टर्मिनेट कर दिया गया है जबकि यह मामला अभी अदालत में विचाराधीन है। दो दिन बाद शुरू होने जा रहे अकादमी के साहित्योत्सव में शामिल होने वाले लेखकों के सामने भी नैतिक जवाबदेही का सवाल खड़ा हो गया है। कई वरिष्ठ रचनाकारों ने अकादमी सचिव को तुरंत सस्पेंड करने और महिला अधिकारी को बहाल करने की मांग की है। वरिष्ठ कवयित्री और एक्टिविस्ट शुभा... Read more
राजेश खन्ना

फिल्मी किस्सेः काका का एरोगेंस!

काका (राजेश खन्ना) मूडी किस्म के आदमी थे। और जब सफ़लता के रथ पर सवार होकर मूडी आदमी रफ्तार पकड़ता है तो फिर उसके कहने ही क्या। वो आदमी को आदमी क्या समझेगा। यही काका को ले डूबा, चाहे फिर उनका प्रेम हो या फिल्मी करियर।   राजेश खन्ना अपनी पहली फ़िल्म की शूटिंग में ही 4 घण्टे लेट पहुंचे। प्रोड्यूसर और कई वरिष्ठ लोग बड़े नाराज औऱ हैरान थे कि एक नए कलाकार का ये रवैय्या है। राजेश पहुंचे तो प्रोड्यूसर ने सख़्त लहजे में कहा इस समय आ रहे हैं आप? तो राजेश बोले थे कि देखो साब फ़िल्म विलम अपनी जगह है, अपनी लाइफ तो ऐसे ही... Read more

जनवरी का मीडिया बुलेटिन

मीडिया मिरर जनवरी महीने पर परम्परागत तरीके से बंद था। इसलिए पूरे महीने का न्यूज बुलेटिन आपके लिए यहां संक्षेप में प्रस्तुत है।    1- पंजाब केसरी दिल्ली के प्रधान सम्पादक अश्वनी कुमार का 18 जनवरी को गुड़गांव के अस्पताल मेदांता में निधन हो गया। श्री कुमार अपनी विशेष सम्पादकीय लेखन शैली के लिए जाने जाते थे। संघ और बीजेपी विचारधारा के अश्वनी कुमार अखबार के प्रधान सम्पादक रहते बीजेपी से 14वीं लोकसभा चुनाव भी जीते थे। पानीपत करनाल संसदीय सीट में सांसद भी रहे। उनके निधन के बाद अखबार का कामकाज उनके बड़े बेटे आदित्य चोपड़ा देखेंगे। 2- राष्ट्रीय पुस्तक न्यास का निदेशक सेना अधिकारी लेफ्टीनेंट कर्नल युवराज मलिक... Read more