विदेशी पत्रकार/लेखक

जेवियर मोरो, स्पेनिश लेखक

जेवियर मोरो, स्पेनिश लेखक

जेवियर मोरो, स्पेनिश लेखक हैं। कई किताबें लिखीं, पर सोनिया गांधी पर किताब लिखकर विश्वप्रसिद्ध हो गए। इन्होंने सोनिया गांधी की जीवनी the rad sari लिखी है। ये किताब अंग्रेजी, हिंदी, स्पेनिश में भी है। विवादित भी हुई। जब भारत में लांच की योजना मोरे ने बनाई तब कांग्रेस की ओर से अभिसेक मनु सिंघवी ने बतौर अधिवक्ता किताब पर प्रश्न उठाये। हालाँकि विमर्श के बाद किताब भारत में प्रकाशित हुई। मोरो भारतीय पत्रकार खुशवंत सिंह के मुरीद रहे हैं और जब सोनिया पर किताब लिख रहे थे कई बार खुशवंत से मिले। Read more
sushobhit

लेखक की भाषा ही उसकी “राष्‍ट्रीयता” है

_______________________________________________सुशोभित सक्तावत की कलम से, इंदौर रहते हैं। पत्रकार हैं, अभिनेत्री दीप्ति नवल की बॉयोग्राफी लिख रहे हैं। लेखक की भाषा ही उसकी "राष्‍ट्रीयता" होती है। तो "भाषांतर" को क्‍या उसका "विस्‍थापन" समझा जाए? शायद नहीं, क्योंकि लेखक की राष्ट्रीयता "उसकी भाषा" होती है, कोई "एक" भाषा नहीं, और "मातृभाषा" तो क़तई नहीं। चंद उदाहरणों से इसको समझें। योसेफ़ कॉनरॉड को अंग्रेज़ी का पहला आधुनिक उपन्‍यासकार माना जाता है। उनके सुगठित वाक्‍य विन्‍यास "लैक्सिकन प्रिसिशन" की मिसाल कहलाते हैं। बाद के सालों में अंग्रेज़ी के जो भी उल्‍लेखनीय "प्रोज़ स्‍टाइलिस्‍ट" हुए, वे सभी कॉनरॉड को अपना उस्‍ताद मानते हैं, चाहे वे फ़ॉकनर हों, नायपॉल हों, रूश्‍दी हों या ग्राहम ग्रीन... Read more
hilda

हिल्डा क्लेटन को सलाम

विश्वभर के फोटोग्राफरों के लिए मिसाल और प्रेरणा हैं हिल्डा क्लेटन। यूएस आर्मी में कॉम्बेट फोटोग्राफर हैं। मतलब युद्ध की फोटोग्राफी करती हैं। 4 वर्ष पहले अफगान युद्ध में फोटोग्राफी करते हुए विस्फोट से जान चली गई थी। जिस तस्वीर को लेते समय हिल्डा की जान चली गई वो आप देख सकते हैं। उनकी अंतिम तस्वीरें यूएस आर्मी ने उनके परिवार से इजाजत लेकर कल ही जारी की हैं और उन्हें श्रधांजलि दी। कितने खतरनाक क्षण हरदम होते हैं ऐसे फोटोग्राफर के पास, जिन्हें युद्ध की जीवंत तस्वीरें उतारना होता है। दरअसल कॉम्बेट फोटोग्राफर की तस्वीरों के वर्गीकरण और विश्लेषण के आधार पर युद्ध की भयवायता और मूल स्थिति का... Read more